Bollywood

भारत की पहली हिंदी फिल्म

भारत की पहली हिंदी फिल्म

बॉलीवुड आज भारत के लोगों की धड़कन है। सिनेमा कई लोगों की जिंदगी है। सिनेमा एक धर्म का रूप ले चुका है। और सिनेमा के अभिनेता अभिनेत्री लोगों के लिए कई माइनों में भगवान से कम नहीं हैं। लोग उनकी एक झलक के लिए तरसते हैं। आज हिंदी फिल्में 800 करोड़ तक का बिज़नेस कर रही हैं। फिल्मों में काम करना लोगों के लिए सपने सरीखा है। मगर क्या आप जानते हैं कि भारत की पहली हिंदी फिल्म कौन सी है?

आप यदि सोचते हैं कि ये दादा फालके की राजा हरिश्चंद्र है, तो ये गलत है। क्योंकि वह एक मूक फिल्म थी। हिंदी फिल्मों की शुरुआत बोलती हिंदी फिल्मों से ही मानी जा सकती है। तो भारत की पहली बोलती और पहली हिंदी फिल्म थी “आलमआरा।”  साल था 1931 और दिन था 14 मार्च, जब मुंबई के मैजेस्टिक सिनेमा हॉल में भारत की पहली हिंदी फिल्म प्रदर्शित हुई। हजारों की भीड़ सिनेमा देखने के लिए टूट पड़ी। और पहली ही हिंदी फिल्म के पहले ही शो पर पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था।

alam ara
alam ara

 

वैसे ये सिलसिला आज भी जारी है। खैर इस पहली हिंदी फिल्म का निर्माण किया था इम्पीरियल कम्पनी ने, और इसके निर्देशक थे आर्देशर ईरानी। इसके नायक थे मास्टर विट्ठल, नायिका थी जुबैदा। इस तरह से ये भारत की हिंदी फिल्मों के पहले हीरो हीरोइन थे। इसके अलावा इस फिल्म में एक और महान अभिनेता ने भी ककाम किया था। ये थे रणबीर कपूर के परदादा , ऋषि कपूर के दादा और राजकपूर के पिता पृथ्वीराज कपूर।

इस फिल्म में हिंदी सिनेमा का पहला गीत भी गाया गया था। इसे गाया था वजीर मोहम्मद खान ने। और हिंदी फिल्मों के इस पहले गीत के बोल थे ” दे दे खुदा के नाम पर ” । यह गीत उन दिनों काफी गुनगुनाया जाता था।
बाद में हिंदी फिल्मों ने बुलन्दियों को छुआ, लेकिन भारत की यह पहली बोलने वाली ही हिंदी फिल्म हमेशा के लिए इतिहास में दर्ज हो गई।

Zubaida First Indian Film Heroin

Zubaida First Indian Film Heroin

Master Vitthal - First Indian Cine Hero

Master Vitthal – First Indian Cine Hero

Wazir Mohammed Khan - First Indian Cine Singer

Wazir Mohammed Khan – First Indian Cine Singer

Ardeshir Irani

Ardeshir Irani

Facebook

About the author

admin