History

​​औरंगजेब और गंगाजल

​​औरंगजेब और गंगाजल

​​औरंगजेब अपनी धर्मान्धता के लिए भारतीय इतिहास में कुख्यात है। उसे घोर हिन्दू विरोध के कारण जाना जाता है। उसने जबरन हिंदुओं को मुसलमान बनाया। उनके मंदिर तोड़े। मथुरा और काशी के विख्यात मंदिरों को तोड़ कर मस्जिद बना दिया। हिंदुओं पर जजिया कर लगाया। उसकी मौत के 350 साल बाद भी हिन्दू समाज उसके कट्टर इस्लामिक सोच से उपजे जुल्मों को भूल नही पाया है। लेकिन औरंगजेब माँ एक सच और भी है जिसे जानकर भारत के हिन्दू और मुसलमान सकते में आ जाएंगे। और ​​वो सच ये है कि औरंगजेब सिर्फ और सिर्फ गंगाजल ही पिता था।

चोंक गये ना आप ये जानकर। जी हां ये सच है कि उस समय के मुगल बादशाह भी गंगाजल के असाधारण गुणोँ को जानते थे। और अकबर भी इसी लिए गंगाजल पीता था। और औरंगजेब भी गंगजल की खूबी को जनता था इसलिए वो सिर्फ गंगाजल ही पीता था। आखिर निरोगी शरीर तो सबको चाहिए।

इस बात की पुष्टि तत्कालीन यूरोपियन यात्रियों ने की है। उनमें से एक तो शाही हकीम भी रह चुका था। और सबसे बड़ी बात कि औरंगजेब के आखिरी 25 साल दक्षिण में गुजरे थे। और तब भी आगरा के गंगातट से ऊंटों में लादकर रोज गंगाजल हैदराबाद भेजा जाता था। जिसे पहुँचने में 40 दिन लगते थे। और गंगाजल तो छह महीने भी खराब नही होता था।

चलो कम से कम गंगाजल पीने से औरंगजेब की उम्र कुछ तो बढ़ी होगी, क्योंकि पाप् तो उसके कम हो नही सकते थे।

औरंगजेब के गंगाजल पीने से सम्बंधित वीडियो के लिए यहां क्लिक करें |

Facebook

About the author

admin